ABOUT US

अखिल भारतीय मीडिया फाउंडेशन की स्थापना 17 जून 2019 को उत्तर प्रदेश के भगवान श्री राम की जन्मभूमि अयोध्या मंडल अंतर्गत अंबेडकरनगर जनपद के ग्राम – बड़का रकबा सड़क (नैपुरा), पोस्ट – ऐनवां, तहसील- टाण्डा, थाना- इब्राहिमपुर, जनपद – अम्बेडकर नगर से की गई।

वर्तमान समय में अखिल भारतीय मीडिया फाउण्डेशन (ट्रस्ट) का पंजीकृत केन्द्रीय कार्यालय ग्राम – बड़का रकबा सड़क (नैपुरा), पोस्ट – ऐनवां, तहसील- टाण्डा, थाना- इब्राहिमपुर, जनपद – अम्बेडकर नगर में स्थित है। जिसे आवश्यकतानुसार पूरे देश में किसी भी राज्य में स्थानांतरित किया जा सकता है तथा आवश्यकतानुसार मंडल राज्य जिला देश व प्रदेश स्तर पर कार्यालय खोले जा सकते हैं। 

पंजीयन के समय 7 सदस्य कोर कमेटी की बैठक हुई। बैठक में सत्यम कुमार श्रीवास्तव (संस्थापक/राष्ट्रीय अध्यक्ष), अब्दुल अजीज बेग (संरक्षक), बृजेश कुमार मौर्य – (वरिष्ठ राष्ट्रीय उपाध्यक्ष), जितेंद्र कुमार ( राष्ट्रीय उपाध्यक्ष) , श्रीमती रिंकी श्रीवास्तव ( कोषाध्यक्ष), आफताब अहमद (केंद्रीय चेयरमैन), श्रीमती अंतिमा श्रीवास्तव (राष्ट्रीय सचिव) मनोनीत किए गए। समस्त सदस्यों का मनोनयन सबकी सहमति से अखिल भारतीय मीडिया फाउंडेशन के संस्थापक एवं राष्ट्रीय अध्यक्ष सत्यम कुमार श्रीवास्तव द्वारा निम्न शर्तों के तहत किया गया –

1. अध्यक्ष यदि उचित समझे तो विषयों पर विचार करने एवं सलाह प्राप्त करने हेतु बोर्ड आफ ट्रस्टीज का गठन कर सकता है जिसमें कि अधिकतम 15 सदस्य हो सकते हैं।.

2. अध्यक्ष किसी भी व्यक्ति को ट्रस्टी मनोनीत करते समय उसका कार्यकाल स्पष्ट करेगा। ट्रस्टी का कार्य अवधि मैनेजिंग ट्रस्टी/अध्यक्ष की इच्छा पर निर्भर करती है तथा मैनेजिंग ट्रस्टी/ अध्यक्ष किसी भी व्यक्ति का कार्यकाल समाप्त होने के पूर्व ही बिना किसी को कोई कारण बताए ट्रस्टी के पद से हटा सकता है।

3.मैनेजिंग ट्रस्टी/ अध्यक्ष जब भी उचित समझे बोर्ड ऑफ ट्रस्टी की बैठक आयोजित कर सकता है जिसकी अध्यक्षता मैनेजिंग ट्रस्टी/ अध्यक्ष स्वयं करेगा।

4. मैनेजिंग ट्रस्टी/ अध्यक्ष उन्हीं विषयों पर विचार करेगा तथा सुझाव देगा जिनको मैनेजिंग ट्रस्टी/ अध्यक्ष द्वारा सुनिश्चित किया जाएगा।

5. बोर्ड आफ ट्रस्टीज द्वारा किए गए किसी भी सुझाव को मानना स्वीकार करना अथवा स्वीकार करना पूर्णतया मैनेजिंग ट्रस्टी/ अध्यक्ष की इच्छा एवं विवेक पर निर्भर करता है उस संदर्भ में मैनेजिंग ट्रस्टी / अध्यक्ष के द्वारा लिया गया निर्णय ही मान्य एवं अंतिम होगा।

6. बोर्ड ऑफ ट्रस्टी का कोई भी न्यासी कभी भी किसी पारिश्रमिक वेतन या लाभ का अधिकारी नहीं होगा।

अखिल भारतीय मीडिया फाउंडेशन में सदस्यता के प्रकार-

1.आजीवन सदस्यता – 5000/- रुपये।

2.वार्षिक सदस्यता – 251/- रुपये। (नियुक्ति पत्र, परिचय पत्र बुकलेट तथा स्टीकर शुल्क अलग से) 

3.सक्रिय सदस्यता- 100/- रुपये।

4.प्राथमिक सदस्यता – 50/- रुपये।

सदस्यता की समाप्ति-
स्वत: त्यागपत्र देने पर, पागल या दिवालिया घोषित होने पर, न्यायालय द्वारा दंडित होने पर संगठन के नियमों के विरुद्ध कार्य करने पर, सदस्यता स्वत: समाप्त कर दी जाएगी।

अखिल भारतीय मीडिया फाउंडेशन का कार्यक्षेत्र –

संगठन का कार्यक्षेत्र संपूर्ण भारत वर्ष है तथा सामाजिक उत्थान हेतु विश्व की किसी राष्ट्र व व्यक्ति विशेष से सहायता एवं राय प्राप्त कर सकता है अथवा सहायता व राय दे सकता है।

अखिल भारतीय मीडिया फाउंडेशन की स्थापना के मुख्य उद्देश्य निम्न वत हैं –

1. सशक्त मीडिया समृद्ध भारत व सशक्त मीडिया भ्रष्टाचार मुक्त भारत के नव निर्माण हेतु कार्य करना तथा पत्रकार बंधुओं को पत्रकारिता के अभिव्यक्ति की आजादी दिलाना।

2. देशभर में भ्रष्टाचार एवं भयमुक्त समाज की स्थापना करने पर जोर देना।

3. मीडिया कल्याण बोर्ड की स्थापना हेतु प्रयास करना।

4. पत्रकार एवं सामाजिक कार्यकर्ता बंधुओं का उत्पीड़न होने पर शासन प्रशासन स्तर से न्याय दिलाना।

5. डिजिटल मीडिया को बढ़ावा देते हुए सोशल मीडिया जैसे – व्हाट्सएप समूह, फेसबुक, टि्वटर, यूट्यूब चैनल तथा न्यूज़ पोर्टल का संचालन करना।

6. पत्रकारिता क्षेत्र में जुड़े समस्त पत्रकार बंधुओं हेतु समय-समय पर प्रशिक्षण शिविर / कार्यशाला का आयोजन करना।

7. पत्रकार एवं सामाजिक कार्यकर्ता बंधुओं का उत्पीड़न होने पर एचआईआर ( उत्पीड़न की सूचना रिपोर्ट) दर्ज करते हुए शासन स्तर से न्याय दिलाना।

8. भ्रष्टाचार के मामले को गंभीरता से लेते हुए विशेष जांच टीम बनाकर भ्रष्टाचार की तह तक जाकर उसका पर्दाफाश करना।

9. केंद्र व राज्य सरकार के जनसंपर्क विभागों में अखिल भारतीय मीडिया फाउंडेशन एवं पत्रकारों की भागीदारी बढ़ाने का प्रयास करना।

10. पत्रकारों एवं मीडिया संस्थानों को उनके उत्कृष्ट कार्यो के लिए प्रतिवर्ष अवार्ड व सम्मान समारोह करना।

11. अखिल भारतीय मीडिया फाउंडेशन द्वारा पत्रकारों को प्रेस मान्यता दिलवाने व उन्हें होने वाली समस्याओं (परेशानी) को दूर करना एवं उनकी सहायता करना।

12. पत्रकारों एवं आश्रितों के लिए केंद्र, राज्य, जिला स्तर पर सरकार से अस्पताल व नर्सिंग होम आदि की स्थापना एवं अन्य संचालित व्यक्तिगत/ सार्वजनिक सरकारी, गैर सरकारी अस्पतालों एवं लैब से नि:शुल्क/अल्प शुल्क पर उपचार की व्यवस्था करवाना।

13. पत्रकार एवं सामाजिक कार्यकर्ताओं के हितों के लिए अखिल भारतीय मीडिया फाउंडेशन सभी प्रकार के कार्य करेगी तथा उन्हें मिलने योग्य विभिन्न प्रकार की रियायत अथवा सुविधाएं प्रदान कराने का प्रयास करेगी।

14. पत्रकार बंधुओं को टोल टैक्स से निजात दिलाने हेतु प्रयास करना।

15. पत्रकारों के लिए फोटोग्राफी, कंप्यूटर व टाइपिंग शिक्षण आदि के लिए केंद्रों की स्थापना करना व नि:शुल्क प्रशिक्षण देना।

16. देश में बढ़ रहे अपराध व भ्रष्टाचार पर रोक लगाना।

17. रिश्वतखोरों को रंगे हाथ पकड़ कर उन पर कानूनी कार्यवाही करवाना।

18. गैरकानूनी कार्यो पर रोक लगाना एवं प्रशासन को सूचित कर उन पर कार्यवाही कराना।

19. किसी के साथ हो रहे अन्याय अत्याचार पर रोक लगाना एवं प्रशासन की सहायता से सुलह समझौता कराना।

20. अपराधों की खुफिया जानकारी हासिल कर प्रशासन को सौंप कर उन पर कार्यवाही कराना।

21. बेगुनाह फंसे हुए लोगों का सहयोग कर साक्ष्य इकट्ठा कर प्रशासन को सौंप कर उनकी मदद करना।

22. गुनाहगारों की खुफिया जानकारी इकट्ठा कर एवं अच्छी तरह जांच पड़ताल कर गुनाहगारों तक पहुंचने के लिए प्रशासन की मदद करना।

23. न्यायालय में चल रहे केसों में बेवजह फंसे हुए लोगों को साक्ष्य इकट्ठा कर एवं सच्चाई तक पहुंचकर न्यायालय में साक्ष्य पेश कर लोगों की मदद करना।

24. बाल मजदूरी को जड़ से खत्म करना।

25. गरीब, मजदूरों के हक में आवाज उठाना।

26. गांव व समाज में समस्त गरीब, मजदूरों, किसान भाइयों, सामाजिक कार्यकर्ता बंधुओं के हक में आवाज उठाना व उनका अधिकार दिलाना।

27. गरीब बच्चों को निशुल्क शिक्षा उपलब्ध कराना एवं विद्यालय की स्थापना करना।

28. बच्चों को शिक्षा के प्रति जागरूक करना।

29. महिलाओं एवं बालिकाओं की सुरक्षा हेतु तत्पर रहना।

30. बेरोजगारों को रोजगार मुहैया कराना।

31. समाज के निर्धन कन्याओं का दहेज रहित सामूहिक विवाह का आयोजन कराना एवं परित्यक्तकर्ताओं व विधवाओं को पुनः विवाह हेतु प्रेरित करना।

32. शिक्षा के उत्तरोत्तर विकास हेतु कार्य क्षेत्र में प्राइमरी से लेकर जूनियर हाई स्कूल/ हाई स्कूल इंटरमीडिएट एवं आवश्यकता होने पर डिग्री कॉलेज तक की शिक्षा संस्थानों की स्थापना उत्तर प्रदेश माध्यमिक शिक्षा बोर्ड सीबीएसई एवं आईसीएसई यूजीसी शिक्षा पद्धति से करना एवं इनका संचालन करना।

उपरोक्त सभी बिंदुओं पर अखिल भारतीय मीडिया फाउंडेशन के उद्देश्य एवं कार्यों के बारे में जानकारी दी गई है।